Blockchain Technology (ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी) क्या है ?

ब्लॉकचेन एक विकेन्द्रीकृत (बिखरा हुआ), डेटाबेस है जिसका उपयोग रिकॉर्ड की बढ़ती सूची को बनाए रखने के लिए किया जाता है, जिसे ब्लॉक कहा जाता है। प्रत्येक ब्लॉक में एक टाइमस्टैम्प और पिछले ब्लॉक का लिंक होता है, जो ब्लॉक की एक श्रृंखला बनाता है।

शब्द “क्रिप्टो” “क्रिप्टोग्राफी” का छोटा शब्द है। एन्क्रिप्टेड कोड को लिखना क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) कहलाता है। “क्रिप्टो” शब्द का उपयोग अक्सर क्रिप्टोग्राफ़िक तकनीकों को संदर्भित करने के लिए किया जाता है, जो ब्लॉकचेन पर संग्रहीत जानकारी को सुरक्षित करने और सुरक्षित वित्तीय लेनदेन की सुविधा के लिए उपयोग की जाती हैं।
बिटकॉइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन को सुरक्षित करने और नई इकाइयों के निर्माण को नियंत्रित करने के लिए क्रिप्टोग्राफ़िक तकनीकों का उपयोग करती हैं।
Blockchain Technology

ब्लॉकचेन तकनीक की एक अन्य प्रमुख विशेषता इसकी केंद्रीय प्राधिकरण के बिना काम करने की क्षमता है। क्योंकि डेटाबेस विकेंद्रीकृत है, यह एक इकाई के बजाय कंप्यूटर के नेटवर्क द्वारा बनाए रखा जाता है। यह इसे सेंसरशिप के लिए प्रतिरोधी बनाता है और किसी एक पार्टी के लिए नेटवर्क पर नियंत्रण करना मुश्किल बना देता है।

★ BlockChain Technology किसने बनाई

ब्लॉकचेन तकनीक को पहली बार 1990 के दशक की शुरुआत में वर्णित किया गया था। लेकिन 2008 में बिटकॉइन जारी होने तक ऐसा नहीं था। ब्लॉकचेन तकनीक को एक नए प्रकार क्रिप्टो-करेंसी के लिए इस्तेमाल किया जाने लगा। 

बिटकॉइन नाम के पीछे व्यक्ति या समूह की असली पहचान कभी सामने नहीं आई है। आज, ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग विभिन्न प्रकार के उद्योगों में किया जाता है और इसमें हमारे जीवन के कई पहलुओं में क्रांति लाने की क्षमता है।

★ Blockchain टेक्नोलॉजी रेगुलेट कौन करता है ?

ब्लॉकचेन तकनीक विकेंद्रीकृत है और केंद्रीय प्राधिकरण के बिना संचालित होती है, जिसका अर्थ है कि यह किसी भी सरकार या संगठन द्वारा सीधे विनियमित नहीं होती है।

उदाहरण के लिए, वित्तीय उद्योग में ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग वित्तीय प्राधिकरणों द्वारा नियंत्रित किया जाता है। 

★ Blockchain प्रौद्योगिकी का लाभ

ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के कुछ संभावित लाभों में शामिल हैं।

अच्छी सुरक्षा: ब्लॉकचैन विकेंद्रीकृत है और डेटा को सुरक्षित करने के लिए उन्नत क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है।  ब्लॉकचेन तकनीक धोखाधड़ी और छेड़छाड़ के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है।

अच्छी पारदर्शिता: ब्लॉकचेन की वितरित प्रकृति का अर्थ है कि सभी पक्ष इस पर संग्रहीत जानकारी को देख और सत्यापित कर सकते हैं, जो विश्वास और उत्तरदायित्व बढ़ाने में मदद कर सकता है।

● क्षमता: प्रक्रियाओं को स्वचालित और सुव्यवस्थित करके, ब्लॉकचेन तकनीक बिचौलियों की आवश्यकता को कम करने और लेनदेन की गति को बढ़ाने में मदद कर सकती है।

पहुंच में वृद्धि: क्योंकि इसके लिए किसी केंद्रीय प्राधिकरण की आवश्यकता नहीं होती है, ब्लॉकचेन तकनीक वित्तीय सेवाओं और अन्य प्रकार की सूचनाओं को व्यापक श्रेणी के लोगों के लिए अधिक सुलभ बनाने में मदद कर सकती है।

★ ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का नुकसान

किसी भी तकनीक की तरह, ब्लॉकचेन की अपनी सीमाएँ हैं और इसके उपयोग में संभावित कमियाँ हैं। ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी की कुछ संभावित कमियों है जिसको नीचे लिखा गया है।

● जटिलता: ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग जटिल हो सकता है और इससे अपरिचित लोगों के लिए सीखने की आवश्यकता हो सकती है।

सीमित मापनीयता: ब्लॉकचेन की विकेन्द्रीकृत प्रकृति का अर्थ है कि यह पारंपरिक डेटाबेस की तुलना में धीमा और कम कुशल हो सकता है, विशेष रूप से उन अनुप्रयोगों के लिए जिन्हें उच्च स्तर के लेनदेन थ्रूपुट की आवश्यकता होती है।

विनियमन: एक केंद्रीय प्राधिकरण की कमी ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के उपयोग को विनियमित करना कठिन बना सकती है, जो कुछ उद्योगों के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

मानकों का अभाव: वर्तमान में ब्लॉकचैन-आधारित प्रणालियों के विकास और परिनियोजन के लिए व्यापक रूप से स्वीकृत मानक नहीं हैं, जो मौजूदा प्रणालियों के एकीकरण के लिए चुनौतियां पैदा कर सकते हैं।

★ ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग

ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग बहुत सारे जगह किया जा सकता है।

वित्तीय सेवाएं: ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग सुरक्षित, तेज और कम लागत वाले वित्तीय लेनदेन जैसे सीमा पार भुगतान और ऋण देने के लिए किया जा सकता है।

आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन: ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी का उपयोग आपूर्ति श्रृंखला के माध्यम से माल की आवाजाही को ट्रैक करने और उत्पादों की प्रामाणिकता और गुणवत्ता सुनिश्चित करने में मदद के लिए किया जा सकता है।

पहचान सत्यापन: ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग सुरक्षित और सत्यापन योग्य डिजिटल पहचान बनाने के लिए किया जा सकता है, जो धोखाधड़ी को कम करने और सेवाओं तक पहुंच में सुधार करने में मदद कर सकता है।

● वोटिंग सिस्टम: ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग सुरक्षित और पारदर्शी वोटिंग सिस्टम बनाने के लिए किया जा सकता है जिसका उपयोग चुनाव और अन्य प्रकार के निर्णय लेने के लिए किया जा सकता है।

● स्मार्ट अनुबंध: ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी का उपयोग स्व-निष्पादन अनुबंध बनाने के लिए किया जा सकता है जो विशिष्ट घटनाओं से ट्रिगर होते हैं और उन्हें लागू करने के लिए बिचौलियों की आवश्यकता नहीं होती है।

★ क्या हम घर में ब्लॉकचेन बना सकते हैं?

हां, घर पर ब्लॉकचेन बनाना संभव है। घर पर एक ब्लॉकचेन बनाने के लिए, आप बिटकॉइन या एथेरियम जैसे ओपन-सोर्स सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन का उपयोग कर सकते हैं। 

ये सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन कंप्यूटर पर डाउनलोड और इंस्टॉल किए जा सकते हैं, और वे आपको एक ब्लॉकचेन सेट अप करने और बनाए रखने की अनुमति देते हैं। यह ध्यान देने योग्य है कि एक ब्लॉकचेन बनाना और बनाए रखना तकनीकी रूप से जटिल होता है और इसके लिए प्रोग्रामिंग और साइबर सुरक्षा के कुछ ज्ञान की आवश्यकता होती है।


bd22e048645d97c84e27c5e8fe69ff9a?s=96&d=blank&r=pg

Ranjan Kumar

मोबाइल और टेक्नोलॉजी को समझना और समझाना  जूनून है। और इन सभी चीज को सामान्य भाषा में दूसरों को समझना, और लिखना पसंद है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top